महिलाओं के लिए खास बनाएं यह रक्षाबंधन

धानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस साल रक्षा बंधन के मौके को महिलाओं की सुरक्षा के लिहाज से खास बनाने का खाका तैयार कर लिया है। उन्होंने कहा है कि इस मौके पर लोग समाज की महिलाओं को सुरक्षा बीमा योजना भेंट करें। उनकी इस अपील के बाद अब आम लोगों के साथ ही भाजपा विधायकों व सांसदों से लेकर मंत्रियों और मुख्यमंत्रियों की ओर से भी ऐसे कार्यक्रम आयोजित किए जा सकते हैं।
सुरक्षा बीमा
योग दिवस की सफलता के बाद अब प्रधानमंत्री अगले दो महीने महिलाओं की सामाजिक सुरक्षा के लिए विशेष अभियान चलाना चाहते हैं। पिछले महीने उन्होंने 'प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना' शुरू की है। सिर्फ 12 रुपये के सालाना प्रीमियम वाली इस बीमा योजना के तहत दुर्घटना में होने वाली मौत या अपंगता पर दो लाख रुपये की आर्थिक सहायता का प्रावधान है। अब प्रधानमंत्री ने इसे खास तौर पर महिलाओं तक पहुंचाने का विशेष अभियान छेड़ा है।
रविवार को रेडियो पर प्रसारित अपने 'मन की बात' कार्यक्रम में उन्होंंने कहा कि अगस्त महीने में रक्षाबंधन त्योहार है। क्यों न हम सभी देशवासी रक्षाबंधन के पहले एक जबरदस्त जन आंदोलन खड़ा करें और हमारे देश की माताओं -बहनों को जन सुरक्षा योजना का लाभ दें।
उन्होंने अपील की है कि इस दिन लोग अपने परिवार की महिलाओं से ले कर घरेलू आया तक को यह बीमा पालिसी भेट करें। सुरक्षा बीमा योजना के अलावा उन्होंने 'प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना' का विकल्प भी बताया है। जीवन ज्योति का प्रीमियम 330 रुपये सालाना है। माना जा रहा है कि प्रधानमंत्री की अपील के बाद अब भाजपा ने अपने विधायकों, सांसदों, मंत्रियों और मुख्यमंत्रियों को ही नहीं पार्टी के अधिकारियों को भी इस पर अमल करने को कहा है। रक्षाबंधन के दिन ये लोग समाज की महिलाओं को आमंत्रित कर उन्हें यह भेट देंगे।
बेटी बचाओ, सेल्फी लगाओ
प्रधानमंत्री ने असंतुलित लिंगानुपात पर चिंता जताते हुए 'बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ' को भी जन आंदोलन बनाने की अपील की है। उन्होंने हरियाणा में चल रहे 'सेल्फी विद डॉटर' (बेटी संग सेल्फी) को देश भर में चलाने की अपील की। उन्होंने लोगों से ट्विटर पर ऐसी फोटो के साथ 'बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ' से जुड़ा कोई संदेश भी लिखने को कहा है। चुनिंदा फोटो और संदेश को वे ट्विटर पर रीट्वीट करेंगे। यह प्रयास शुरू करने के लिए हरियाणा के बीबीपुर गांव के सरपंच सुनील जगलान का उन्होंने धन्यवाद भी किया।
ऑनलाइन हो योग संबंधी सूचना
योग दिवस की कामयाबी से खुश प्रधानमंत्री ने अब इंटरनेट पर इसे सुलभ बनाने की अपील की है। उन्होंने कहा कि 'मैं देश के नौजवानों, विशेष कर आइटी पेशेवरों से आग्रह करता हूं कि आप सब नौजवान मिल-जुलकर ऑनलाइन योग की गतिविधियों की योजना बनाइए। योग से संबंधित संस्थाओं का इस पर परिचय हो, योग गुरुओं की जानकारी हो, योग के संबंध में जानकारी हो। योग सीखना हो तो कहां से सीखें, योग टीचर चाहिए तो कहां से मिलेगा, एक डाटाबेस तैयार करना चाहिए। साथ ही, आलोचकों पर कटाक्ष करते हुए उन्होंने यह भी कहा कि योग दिवस को लेकर बुद्धिजीवी चाहे जो भी सोचें लेकिन इस पर हर भारतवासी गर्व कर सकता है।

Comments

Popular Posts